नीरज नीड़

​मशहूर मंज़रकश सआदत हसन मंटो ने खासी दिक्कतों के बाद हुए अपने ऩिकाह के बावजूद एक बात कही थी- चाहे जो जाए, मैं खुद को तीन चौथाई से ज्यादा एक शौहर में तब्दील होने नहीं दूंगा। हूबहू अल्फाज़ों में ना सही, पर मैने भी कभी सोचा था कि चाहे जो हो जाए, मैं खुद को तीन चौथाई से ज्यादा एक नौकरीपेशा में तब्दील होने नहीं दूंगा। शायद.. बाकि बचे उसी एक चौथाई की तलाश में है ये घोंसला- नीरज नीड़।।।


आज तक और आईबीएन7 सरीखे देश के बेहतरीन चैनलों में काम कर चुके नीरज गुप्ता साल 1999 से टीवी पत्रकारिता में हैं। आज तक में मेट्रो टीम की अगुवाई करने के बाद नीरज आईबीएन7 के नेशनल ब्यूरो चीफ रहे। इस दौरान देश की तमाम अहम सियासी घटनाओं समेत हर बड़ी आपराधिक, आतंकी वारदात और नक्सली हमलों की रिपोर्टिंग नीरज ने ग्राउंड ज़ीरो से की। संसद पर हमला हो या मुंबई धमाके, नेपाल का भूकंप हो या बिहार की बाढ़, गुर्जर आंदोलन हो या नॉर्थ-ईस्ट के दंगे- नीरज, हर बड़ी घटना पर सबसे पहले पहुंचने वाले टीवी पत्रकारों में रहे। कश्मीर से केरल और गुजरात से असम तक चुनावी कवरेज के दौरान नीरज ने देश भर के गली कूचों की खाक छानी है। जर्मनी, इटली, स्पेन, डेनमार्क, नॉर्वे, चैक गणराज्य, चीन, जापान, कोरिया, मलेशिया, थाईलैंड समेत दुनिया के कई देशों का फेरा लगा चुके नीरज पूरी दुनिया घूमने की हसरत रखते हैं। ​